“हाँ वे पागल है”

दुनिया में अनेक है महाद्वीप
महाद्वीप में अनेक देश
देश के अंदर अनेक राज्य
राज्यो में अनेक जिले
अनेक जिलो में से एक जिले का एक व्यक्ति

अगर कोई काम ईमानदारी से करे…

‘तो हाँ वह पागल है’

समझदार व्यक्ति टिकट लेने के लिए लंबी लाइन हो तो बीच में घुस कर काम जल्दी कर लेते है

पागल तो वे लोग है जो आखिरी में लग कर अपने नंबर की प्रतीक्षा करते है।

सड़क पर चलते समय कोई इंसान को अगर कूड़ेदान ना मिलने पर चिप्स या बिस्कुट के पैकेट को जेब में रखले

‘तो हाँ वो पागल है’

समझदार व्यक्ति अपना समय बचाते है
पैसे खिलाकर काम करवाते है
पागल तो वो लोग है जो पैसे खिलाने से इनकार कर देते है।

समझदार है वो लोग
जो गलत काम होता देख कर भी चुप रहते है
उन्हें कम से कम पता तो है की
SIRF HAMAARE BOLNE SE KUCH NAHI HOGA…

गलत काम के खिलाफ आवाज़ उठाने वाले और ये सोचने वाले की
HUM SHURUAAT KARENGE TABHI TO DESH BADLEGA…

“तो हाँ वे लोग पागल है”

Thanks for your valuable time. Please share it if u seriously felt something in the article.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s